A Journey for Salvation

Feedback

info@thechardhamyatra.com

बसों की छत पर सोए यात्री, ठंड में गुजारी रात

बसों की छत पर सोए यात्री, ठंड में गुजारी रात

तेज बारिश के बाद बीती रात को पांडुकेश्वर, पीपलकोटी समेत अन्य यात्रा पड़ावों पर कई यात्रियों ने बस की छतों पर तो कुछ ने खुले आसमान के नीचे रात बिताई। यात्रा चरम पर होने के चलते यात्रा पड़ावों पर दिनभर जाम लगा रहा। लामबगड़ में पुलिस और प्रशासन की देखरेख में यात्री वाहनों की आवाजाही कराई जा रही है। जबकि रड़ांग बैंड से बदरीनाथ धाम तक हाइवे पर गिरी बर्फ को भी हटाने के बाद यात्रा चलने से यात्रियों ने भी राहत की सांस ली है।

मंगलवार को तेज बारिश के बाद लामबगड़ भूस्खलन जोन में लगातार पत्थर गिरने के बाद प्रशासन ने यात्रियों को यात्रा पड़ावों पर ही रोक दिया था। पांडुकेश्वर, गो¨वदघाट, पीपलकोटी, जोशीमठ में यात्रियों की तादात अधिक संख्या में थी। इन जगहों पर होटल, लॉज खचाखच होने के बाद अधिकतर यात्रियों ने बस की छतों पर तो कुछ खुले में रहे। बारिश के बाद बढ़ी ठंड के चलते यात्रियों को रातभर मुसीबत का सामना करना पड़ा। बुधवार सुबह बारिश बंद होने के बाद लामबगड़ में प्रात: 10 बजे से बदरीनाथ धाम के लिए वाहनों की आवाजाही पुलिस व प्रशासन की देखरेख में शुरू कराई गई। पहले धाम से नीचे आने वाहनों को निकाला गया। उसके बाद बदरीनाथ धाम जाने वाले वाहनों को भेजा गया। इस दौरान पांडुकेश्वर से लेकर लामबगड़ तक लंबा जाम लगा रहा। जाम की स्थिति यह थी कि सुबह दस बजे से आवाजाही शुरू होने के बाद भी सायं को चार बजे के बाद भी यात्री वाहनों की लंबी कतार लगी रही। जाम के चलते भी यात्रियों को काफी परेशानी हुई। हनुमानचट्टी के आगे रड़ांग बैंड से लेकर बदरीनाथ धाम तक हाइवे पर बर्फ गिरी थी। जिसे साफ करने का कार्य सुबह से शुरू कर दिया गया था। बर्फ हटाने के बाद सबसे पहले बड़े वाहनों की आवाजाही कराई गई उसके बाद छोटे वाहनों की आवाजाही हो पाई। बदरीनाथ यात्रा के पड़ाव पीपलकोटी के होटल व्यवसायी अतुल शाह का कहना है कि यात्रा पड़ावों पर होटल, लाज फुल होने के बाद कई यात्रियों ने बसों व अन्य वाहनों में रात बिताई। बताया कि जाम के चलते भी यात्रियों के अलावा आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

Enquiry Form

Heli-copter Ticket
Pay Now
Get Quote Now
Group Departure