A Journey for Salvation

Feedback

info@thechardhamyatra.com

An ISO 9001:2015
Certified Company

WhatsApp No+91-7290024809

For Instant Booking
Call Us: +91 7290 024 809 , +91 7290 024 810
Enquiry
Pay Now

भारी बर्फबारी से प्रभावित हुई चारधाम यात्रा, गुप्तकाशी पहुंचे उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत

भारी बर्फबारी से प्रभावित हुई चारधाम यात्रा, गुप्तकाशी पहुंचे उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा और केदारनाथ के विधायक मनोज रावत मंगलवार देर शाम 6.30 बजे हेलीकॉप्टर में केदारनाथ से गुप्तकाशी चारधाम हेलीपैड पहुंचे। विधायक रावत ने बताया कि पूर्व सीएम बुधवार को रात्रि प्रवास के लिए आदिबदरी पहुंचेंगे। बता दें कि पूर्व सीएम रावत सोमवार दोपहर को पैदल मार्ग से केदारनाथ पहुंचे थे, लेकिन खराब मौसम के कारण उन्हें मंगलवार को दिनभर धाम में रुकना पड़ा। मंगलवार को धाम में लगातार बारिश और बर्फबारी के चलते हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं भर पा रहा था। मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए प्रशासन ने केदारनाथ जाने वाले यात्रियों को सोनप्रयाग व गौरीकुंड में रोक दिया था।

वहीं बारिश के चलते ओजरी दबारकोट के पास मलबा आने से यमुनोत्री हाईवे बंद हो गया है। बदरीनाथ हाईवे भी लामबगड़ में अवरूद्ध हो गया था, जिसे शाम चार बजे खोल दिया गया। बदरीनाथ और लामबगड़ में रोके गए करीब 7 हजार यात्रियों को उनके गंतव्य पर भेजा गया। मंगलवार को तड़के बदरीनाथ में भी बारिश और भारी बर्फबारी का दौर जारी है। वहीं केदारनाथ धाम में भी बर्फबारी हुई। जिस कारण केदारनाथ यात्रा रोक दी गई।

खराब मौसम के कारण केदारनाथ में रुके पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा गरीब यात्रियों के लिए धाम में कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। उन्होंने मुख्य सचिव उत्पल कुमार से फोन पर बातचीत कर धाम और पैदल मार्ग पर में जगह-जगह पर अलाव की व्यवस्था और बारिश व बर्फबारी से बचने के लिए रेन सेल्टर बनाने पर जोर दिया। पूर्व सीएम के साथ राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा और केदारनाथ विस के विधायक मनोज रावत भी हैं।

पूर्व सीएम ने कहा कि केदारनाथ में बर्फबारी होना, प्रकृति का नैसर्गिक सौंदर्य है। वे पूरी तरह से स्वस्थ्स और सुरक्षित हैं। साथ ही उनके साथ के लोग भी कुशल हैं। कहा कि मौसम को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार धाम में मौसम की स्थिति को ध्यान में रखते हुए इंतजाम नहीं किए गए हैं।

कहा कि इस बर्फबारी ने डबल इंजन सरकार की सारी यात्रा व्यवस्थाओं की पोल खोलकर रख दी है। बावजूद प्रशासनिक तंत्र अपने काम में मुस्तैद है। रावत ने कहा कि खराब मौसम के बावजूद केदारनाथ में सिर्फ एक-दो स्थानों पर अलाव की व्यवस्था की गई है। जबकि जगह-जगह पर सुविधा होना चाहिए थी। उन्होंने मंदिर परिसर के एक तरफ से मंदिर मार्ग के किनारे रेन सेल्टर बनाने की बात भी कही, जिससे बारिश, बर्फबारी में श्रद्धालुओं को ज्यादा दिक्कत न हो। उन्होंने केदारनाथ में गरीब यात्रियों के रात्रि प्रवास के लिए इंतजाम नहीं होने पर रोष जताया। कहा, जिसका कोई नहीं, उसके बाबा केदार हैं। लेकिन सरकार ने धाम पहुंच रहे गरीबों की सुध लेना उचित नहीं समझा, जो बाबा के भक्तों के साथ अन्याय है। इस मौके पर राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा ने कहा कि केदारनाथ में यात्रियों के लिए उस स्तर की सुविधाएं नहीं की गई हैं, जिस तरह से प्रचार किया गया था। वहीं, विधायक रावत ने कहा शासन-प्रशासन की खानापूर्ति तैयारियों की हकीकत सामने आ गई है। इन हालात में यात्रियों के स्वास्थ्य व सुरक्षा के लिए शासन स्तर पर प्रयास नाकाफी हैं। चारधाम सहित गढ़वाल मंडल के साथ ही कुमाऊं के कई इलाकों में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। हेमकुंड में भी बर्फबारी के चलते यात्रा की तैयारियों के कार्य ठप पड़े हैं।

Enquiry Form

Heli-copter Ticket
Whatsapp
Get Quote Now
Group Departure