A Journey for Salvation

Feedback

info@thechardhamyatra.com

रुद्रनाथ के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू

रुद्रनाथ के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू

भगवान रूद्रनाथ जी के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मुख्य पुजारी हरीश भट्ट ने रुद्रनाथ जी की उत्सव डोली को मंदिर के गर्भ गृह से मंदिर परिक्रमा स्थल के भवन में रखा गया है। आम श्रद्धालु दो दिनों तक रुद्रनाथ जी की पूजा अर्चना कर सकेंगे।
> पंच केदारों में चतुर्थ केदार भगवान रुद्रनाथ के कपाट 19 मई को ब्रह्म मुहुर्त में खोले जाएंगे। रुद्रनाथ जी की डोली शीतकाल में गोपीनाथ मंदिर में विराजमान होती है। यहां रुद्रनाथ की शीतकालीन पूजाएं होती हैं। रुद्रनाथ जी की डोली उत्सव मूर्ति को पूजा अर्चना के बाद गर्भ गृह से बाहर निकाला गया। इस दौरान भक्तों ने पूजा अर्चना कर मनौती मांगी। 17 मई को भगवान रुद्रनाथ की डोली रुद्रनाथ के लिए रवाना होगी। सड़क मार्ग से 18 किमी पैदल चलकर पड़ने वाले रुद्रनाथ मंदिर पहुंचने के लिए उत्सव डोली यात्रा पहले दिन पनार में रात्रि विश्राम करेगी। 18 मई को यह यात्रा रुद्रनाथ पहुंचेगी। 19 मई को रुद्रनाथ जी के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे। रुद्रनाथ में भगवान शिव के मुख के दर्शन होते हैं। कार्यक्रम में गोपीनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अनुसुया प्रसाद भट्ट आदि मौजूद रहे।

Enquiry Form

Heli-copter Ticket
Pay Now
Get Quote Now
Group Departure